Categories: पंजाब

अमृतसर रेल हादसे की जांच रिपोर्ट में नगर निगम के चार अफसरों को आरोपी बनाया गया

  • 19 अक्टूबर 2018 को धोबी घाट ग्राउंड में आयोजित दशहरा मेला देख रही भीड़ को रौंदते हुए निकल गई थी ट्रेन
  • तत्कालीन कमिश्नर बी पुरुषार्थ के नेतृत्व वाली कमेटी 6 पुलिस वालों और 7 नगर निगम कर्मचारियों को ठहरा चुकी है आरोपी
  • अब लगभग 21 महीने बाद रिटायर्ड जज अमरजीत सिंह कटारी ने अपनी रिपोर्ट पंजाब सरकार को भेज कड़ी सजा की सिफारिश की

दैनिक भास्कर

Jul 03, 2020, 09:22 PM IST

अमृतसर. अमृतसर रेल हादसे से जुड़ी बड़ी खबर सामने आई है। रिटायर्ड जज अमरजीत सिंह कटारी ने अपनी रिपोर्ट पंजाब सरकार को भेज दी है। लगभग 21 महीने की जांच के बाद जारी इस रिपोर्ट में नगर निगम के चार अधिकारियों को आरोपी बताया गया है। रिपोर्ट में इन आरोपियों का कड़ी सजा देने की सिफारिश की गई है। जस्टिस कटारी ने इन सभी आरोपियों से 15 दिन में अपना स्पष्टीकरण देने के लिए कहा है। अगर इस दौरान आरोपियों ने अपना जवाब सरकार को नहीं भेजा तो समझा जाएगा कि वह अपने बचाव में कुछ नहीं कहना चाहते।

दरअसल, अमृतसर में 19 अक्टूबर 2018 को जोड़ा फाटक के पास स्थित धोबी घाट में आयोजित दशहरा महोत्सव को देखने के लिए हजारों की भीड़ जुटी थी। ग्राउंड में जगह कम होने की वजह से भीड़ रेलवे ट्रैक पर खड़ी हो मेले का आनंद ले रही थी, लेकिन एकाएक त्यौहार की खुशी चीख-पुकार में बदल गई। हुआ यूं कि एक डीएमयू ट्रेन मेला देख रही भीड़ को रौंदती हुई निकल गई। इस हादसे में 65 लोगों की मौत हो गई थी, वहीं बहुत सारे लोग जख्मी हो गए थे।
मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दिए थे, वहीं रेलवे ने भी अपने लेवल पर घटना की जांच करवाई। जालंधर डिवीजन के कमिश्नर बी पुरुषार्थ के नेतृत्व में जांच कमेटी ने जांच के बाद रिपोर्ट में 6 पुलिस वालों और अमृतसर नगर निगम के 7 अफसरों के खिलाफ चार्जशीट की सिफारिश की थी।
अब शुक्रवार को इसी मामले में लगभग 21 महीने बाद रिटायर्ड जज अमरजीत सिंह कटारी ने अपनी रिपोर्ट पंजाब सरकार को भेज दी है। रिपोर्ट में नगर निगम के चार अधिकारियों को आरोपी बताया गया है। रिपोर्ट में इन आरोपियों को कड़ी सजा देने की सिफारिश की गई है। वहीं जस्टिस कटारी ने इन सभी आरोपियों से 15 दिन में अपना स्पष्टीकरण देने के लिए कहा है। अगर इस दौरान आरोपियों ने अपना जवाब सरकार को नहीं भेजा तो समझा जाएगा कि वह अपने बचाव में कुछ नहीं कहना चाहते। इन सभी निगम अधिकारियों पर ड्यूटी के दौरान लापरवाही से काम करने के आरोप हैं।

Source link

admin

Recent Posts

Rajasthan Crisis : कांग्रेस-बीजेपी दोनों के लिए परेशानी बन सकता है राजे गुट

राजस्थान की पूर्व CM वसुंधरा राजे ने दिल्ली में जेपी नड्डा से मुलाकात की. (फाइल फोटो) बड़ा दबाव राजे गुट…

57 mins ago

नोएडा: कोविद -19 टैली 5,868 तक पहुंच गई, सक्रिय मामलों में वृद्धि 937 | नोएडा समाचार – टाइम्स ऑफ इंडिया

NOIDA: उत्तर प्रदेश का गौतम बौद्ध नगर आधिकारिक आंकड़ों से पता चलता है कि शनिवार को 65 ताजा कोविद -19…

1 hour ago

राजस्थान में राजनीतिक संकट के बीच सक्रिय हुईं वसुंधरा, नड्डा के बाद राजनाथ सिंह से मिलीं

राजस्थान की पूर्व CM वसुंधरा राजे ने राजनाथ सिंह से मुलाकात की है (फाइल फोटो) हालांकि इन मुलाकातों के दौरान…

1 hour ago

हिमाचल: मंडी में एक साथ 14 कोरोना मरीज मिलने से हड़कंप, 6 बाहरी मजदूर

मंडी में कोरोना के 14 नये केस सामने आए (सांकेतिक तस्वीर) डीसी ऋग्वेद ठाकुर ने 14 नए मामलों की पुष्टि…

2 hours ago

अयोध्या में भूमि पूजन स्थल की रायसेन के फूलों ने बढ़ाई थी शोभा, भगवान राम से जिले का है खास कनेक्शन

5 अगस्त को पीएम मोदी के हाथों अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर भूमि पूजन संपन्न हुआ पॉलीफार्म के…

3 hours ago

VIDEO: आगरा में बाप ने बच्चे को खिड़की से बांधकर उल्टा लटका दिया, और फिर…

आगरा में बाप ने एक बच्चे को खिड़की से बांधकर उल्टा लटका दिया इस मामले पर एसएसपी (SSP) आगरा बबलू…

3 hours ago

Search News

Subscribe A2znews For News, Jobs & lifestyle

Recent Posts