इस वर्ष राज्यों को हरिद्वार से कलशों में भरकर गंगाजल भेजा जाएगा


देहरादून, दो जुलाई (भाषा) कोविड-19 महामारी से उत्पन्न परिस्थितियों के कारण इस वर्ष रद्द की गयी वार्षिक कांवड़ यात्रा के मद्देनजर उत्तराखंड सरकार हरिद्वार में ‘हर की पौड़ी’ से पीतल के कलशों में गंगाजल भरकर सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को भेजेगी जहां से हर साल बड़ी संख्या में शिवभक्त आते हैं । उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री एवं राज्य सरकार के प्रवक्ता मदन कौशिक ने संवाददाताओं से कहा कि सभी राज्यों (जहां से कांवड़िया आते हैं) के मुख्यमंत्रियों द्वारा कोविड-19 के कारण इस साल कांवड़ यात्रा का आयोजन करने में असमर्थता व्यक्त किए जाने के बाद हरिद्वार से पवित्र गंगाजल से

डिसक्लेमर: यह आर्टिकल एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड हुआ है। इसे नवभारतटाइम्स.कॉम की टीम ने एडिट नहीं किया है।

भाषा | Updated:

देहरादून, दो जुलाई (भाषा) कोविड-19 महामारी से उत्पन्न परिस्थितियों के कारण इस वर्ष रद्द की गयी वार्षिक कांवड़ यात्रा के मद्देनजर उत्तराखंड सरकार हरिद्वार में ‘हर की पौड़ी’ से पीतल के कलशों में गंगाजल भरकर सभी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को भेजेगी जहां से हर साल बड़ी संख्या में शिवभक्त आते हैं । उत्तराखंड के कैबिनेट मंत्री एवं राज्य सरकार के प्रवक्ता मदन कौशिक ने संवाददाताओं से कहा कि सभी राज्यों (जहां से कांवड़िया आते हैं) के मुख्यमंत्रियों द्वारा कोविड-19 के कारण इस साल कांवड़ यात्रा का आयोजन करने में असमर्थता व्यक्त किए जाने के बाद हरिद्वार से पवित्र गंगाजल से भरे हुए कलशों को इन राज्यों में पहुंचाने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने कहा कि ‘हर की पौड़ी’ में पवित्र गंगाजल से भरे बड़े कलशों को ट्रकों में रखा जाएगा और शिवभक्त कांवड़ियों के बीच वितरण के लिए राज्यों के मुख्यमंत्रियों, केंद्रशासित प्रदेशों के उपराज्यपालों और मंत्रियों को भेजा जाएगा। कौशिक ने कहा, ‘‘उत्तर प्रदेश, हरियाणा, राजस्थान, पंजाब, दिल्ली, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के मुख्यमंत्री इस बात पर सहमत हुए हैं कि पारंपरिक कांवड़ यात्रा इस साल संभव नहीं है और इसलिए हमने हरिद्वार से गंगाजल को पीतल के बड़े कलशों में इन राज्यों में ट्रकों से भेजने का फैसला किया है।” उन्होंने कहा कि हरिद्वार में हर साल कांवड़ियों के रूप में आने वाले शिवभक्तों के लिए उनके निवास स्थानों के पास स्थित प्रमुख मंदिरों और शिवालयों में पवित्र गंगाजल की उपलब्धता सुनिश्चित की जाएगी । कौशिक ने कहा कि राज्य सरकार की तरफ से गंगाजल अन्य राज्यों को भेजे जाने का संदेश यह है कि कोविड -19 महामारी के कारण हरिद्वार में कांवड़ यात्रा नहीं हो पा रही है और इसके पीछे ‘आस्था या इरादे की कमी’ जैसा अन्य कोई कारण नहीं है ।

Web Title this year states will be sent to ganga water after filling in vases from haridwar.(Hindi News from Navbharat Times , TIL Network)

रेकमेंडेड खबरें



Source link

admin

Recent Posts

मुठभेड़ में मारे गए तीन युवकों के रिश्तेदार होने का दावा कर रहे लोगों के पुलिस डीएनए नमूने लेगी

श्रीनगर, 13 अगस्त (भाषा) जम्मू-कश्मीर के शोपियां जिले में पिछले महीने कथित फर्जी मुठभेड़ में मारे गए तीन युवकों के…

1 hour ago

हल्द्वानीः सुशीला तिवारी अस्पताल से ‘हवा खाने’ के लिए भाग गए तीन Corona पॉज़िटिव कैदी

बुधवार शाम हल्द्वानी के सुशीला तिवारी अस्पताल से तीन कोरोना पॉज़ीटिव कैदी अस्पताल की खिड़की तोड़कर फरार हो गए थे.…

2 hours ago

चरखी दादरी: कोरोना गाइडलाइन के बीच मनाया जाएगा स्वतंत्रता दिवस समारोह

कोरोना महामारी के बीच ऐसे मनाया जाएगा स्वतंत्रता दिवस फाइनल रिहर्सल (Final Rehearsal) के दौरान ये निर्देश दिए गए. डीसी…

2 hours ago

शरीर और मन दोनों की सेहत के लिए फायदेमंद तैराकी, इन बातों का भी रखें ध्यान

तैराकी करने से शरीर का लचीलापन बना रहता है. हम शरीर (Body) को सेहतमंद (Healthy) और सुडौल बनाए रखने के…

2 hours ago

मथुरा: श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्र्स्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास COVID-19 पॉजिटिव

डीएम, सीएमओ समेत कई डॉक्टर उनके इलाज के लिए पहुंचे हैं. कृष्ण जन्माष्ठमी समारोह के लिए महंत नृत्य गोपाल दास…

2 hours ago

KJS सीमेंट कंपनी में ऐसे हुई 17 करोड़ GST चोरी : सीनियर प्रेसिडेंट को 25 अगस्त तक जेल

जांच के दौरान GST टीम को धमकी का सामना करना पड़ा. KJS सीमेंट ने 7 महीने में 4 लाख टन…

3 hours ago

Search News

Subscribe A2znews For News, Jobs & lifestyle

Recent Posts