कोरोना के खिलाफ जंग में CM शिवराज और मंत्री 30% सैलरी करेंगे दान, विधायकों और सांसदों से भी अपील

डिस्ट्रिक्ट माइनिंग फंड का 30% कोरोना की जरूरत पर खर्च होगा

सीएम (cm) ने कहा कि लॉकडाउन (lockdown) स्थाई समाधान नहीं है, इससे हमारी अर्थव्यवस्था को नुकसान हुआ है. बिना लॉकडाउन के कोरोना को नियंत्रित करने के लिए अनुशासन का पालन और जन-जागरुकता आवश्यक है

भोपाल.कोरोना (corona) के खिलाफ जारी लड़ाई को मजबूत करने के लिए शिवराज सरकार ने एक बड़ा फैसला किया है. मुख्यमंत्री समेत सभी मंत्री अपनी सैलरी का 30 फ़ीसदी हिस्सा कोरोना से निपटने के लिए दान करेंगे. मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (cm shivraj) ने अपने सभी मंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की.इस बैठक में यह तय किया गया कि मुख्यमंत्री और मंत्रियों की सैलरी का यह हिस्सा सीएम रिलीफ फंड में दान किया जाएगा.

मंत्रियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बताया कि उन्होंने खुद अपनी सैलरी के 30 फ़ीसदी हिस्से ₹40500 प्रति महीने के हिसाब से 3 महीने की सैलरी मुख्यमंत्री राहत कोष में दान कर दी है. मुख्यमंत्री ने सांसद – विधायकों से भी 30 परसेंट सैलरी देने की अपील की. इसके साथ ही वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान ये भी फैसला किया गया कि डिस्ट्रिक्ट माइनिंग फंड का 30% कोरोना की जरूरत पर खर्च होगा. ये राशि बेड, पीपीई किट, वेंटिलेटर, अस्पताल में खर्च की जाएगी. इसकी मॉनिटरिंग जिले के प्रभारी मंत्री करेंगे. सभी मंत्रियों को जल्द ही जिलों का बंटवारा कर दिया जाएगा. प्रदेश के अभी 22 जिलों में डिस्ट्रिक्ट माइनिंग फंड है.

मंत्रियों को कोरोना पाठ
सीएम शिवराज ने मंत्रियों से कहा है कि 1 से 14 अगस्त तक किल कोरोना अभियान पार्ट 2 चलाया जाएगा. 1 से 14 अगस्त तक कोई भी मंत्री, विधायक, सांसद सार्वजनिक और राजनैतिक कार्यक्रम नहीं करेंगे. सीएम शिवराज ने सभी को मास्क लगाने और नियमों का पालन करने की हिदायत दी है. उन्होंने कहा अनुशासन का पालन करवाने में हमें नेतृत्व करने की आवश्यकता है. पहले नियमों का पालन हम स्वयं करें फिर जनता से आग्रह करें.

चुनाव से ज्यादा जरूरी ज़िंदगी
सीएम ने मंत्रियों  के चुनाव प्रचार में व्यस्त रहने के बारे में कहा कि चुनाव से ज्यादा जरूरी जनता का जीवन है. चुनाव में हम कसर नहीं छोड़ेंगे.  लेकिन लोगों के जीवन को खतरे में भी नहीं डालेंगे. आज कोरोना में मध्यप्रदेश की रिकवरी दर 70% और मृत्यु दर 2.7% है. शीर्ष 16 राज्यों में हमारा मध्यप्रदेश 15वें नंबर पर है.कोरोना संक्रमण बढ़ने की चिंता हम सभी को है. इसलिए मैं निरन्तर स्थिति की समीक्षा कर रहा हूं. अनुशासन के साथ गाइड लाइन का पालन करके ही हम कोरोना के खिलाफ कामयाब हो सकते हैं.

लॉक डाउन समाधान नहीं
सीएम ने कहा कि लॉकडाउन स्थाई समाधान नहीं है, इससे हमारी अर्थव्यवस्था को नुकसान हुआ है. लॉकडाउन खत्म होने के बाद नियमों का पालन करना अत्यावश्यक है. अन्यथा स्थिति वापस वैसी ही हो जाएगी. एक तरफ हमें कोरोना को नियंत्रित करना है तो दूसरी ओर अर्थव्यवस्था को संभालना भी हमारी प्राथमिकता है. बिना लॉकडाउन के कोरोना को नियंत्रित करने के लिए अनुशासन का पालन और जन-जागरुकता आवश्यक है.



Source link

admin

Recent Posts

दिल्ली में पहला मामला चेहरा पहचान तकनीक से हल दिल्ली समाचार – टाइम्स ऑफ इंडिया

प्रतिनिधि छविNEW DELHI: पहली बार में, दिल्ली पुलिस इस्तेमाल किया चेहरे की पहचान प्रणाली नीचे ट्रैक करने और तीन को…

3 mins ago

आर्टिकल 370 हटाए जाने के एक साल पूरे होने पर कश्मीर में 2 दिन का कर्फ्यू लागू

Edited By Shefali Srivastava | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated: 04 Aug 2020, 11:07:00 AM IST फाइल फोटोश्रीनगर कश्मीर में आर्टिकल 370…

39 mins ago

झारखंड: सरकारी राशन को लेकर विवाद, बेटे ने ही कर दी पिता की हत्या

हाइलाइट्सझारखंड के पाकुड़ में बेटा ही बना बुजुर्ग पिता की जान का दुश्मनसरकारी राशन को लेकर विवाद में कर दी…

2 hours ago

Rajasthan : 20 अगस्त से महज 8 रुपए में मिलेगा भरपेट गर्मागर्म पौष्टिक खाना

अशोक गहलोत सरकार ने इस योजना का नाम इंदिरा रसोई रखा है, (फाइल फोटो) सीएम अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot)…

6 hours ago

अरविंद केजरीवाल, हरदीप सिंह पुरी ने दिल्ली में विकास को लेकर बैठक की दिल्ली समाचार – टाइम्स ऑफ इंडिया

नई दिल्ली: मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के साथ एक बैठक आयोजित की केंद्रीय आवास और शहरी मामले मंत्री हरदीप पुरी ने…

7 hours ago

सियासी मुद्दा बन चुकी पराली के प्रबंधन की तैयारियां शुरू, हरियाणा ने पास की 1,305 करोड़ रुपये की योजना

चंडीगढ़. हरियाणा सरकार ने राज्य में पराली प्रबंधन के लिए 1,304.95 करोड़ रुपये की एक बड़ी योजना को स्वीकृति प्रदान…

7 hours ago

Search News

Subscribe A2znews For News, Jobs & lifestyle

Recent Posts