नहीं मिली एंबुलेंस तो लकवाग्रस्त पत्नी को साइकिल पर लटका घर के लिए निकला 75 वर्षीय पति, बीच रास्‍ते हुआ ऐसा…

महिला लकवा से पीड़ित थी, इसलिए बैठ नहीं पाती थी.

महिला के पति पूरनलाल ने बताया कि डिस्चार्ज होने के बाद उन्होंने अस्पताल प्रबंधन (District Hospital, Raisen) सहित कई डॉक्टरों से गुहार लगाई कि उनके पास वाहन नही हैं, पत्नी को घर भिजवा दिया जाए, लेकिन किसी ने नहीं सुनी. इसलिए उसे अपनी पत्‍नी को साइकिल (Cycle) पर लटकाकर घर ले जाना पड़ा.

रायसेन. आज पूरा देश फादर्स डे (Father’s Day) मना रहा है, वहीं सोशल मीडिया पर 75 वर्षीय एक पिता की तस्वीर वायरल हो रही है, जिसमें मानवता शर्मसार होती दिख रही है. पूरा मामला मध्य प्रदेश के रायसेन (Raisen) का है. स्वास्थ्य खराब होने पर बमोरी निवासी 75 वर्षीय वृद्ध पति पूरनलाल ने अपनी पत्नी मोहन बाई को जिला अस्पताल (District Hospital) रायसेन में भर्ती कराया था. इलाज के बाद महिला को अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया. चूंकि महिला लकवा (Paralysis) से पीड़ित थी, इसलिए बैठ नहीं पाती थी. लिहाजा पति उसे साइकिल पर कपड़े के सहारे लटकाकर घर के लिए निकल पड़े.

पति पूरनलाल ने बताया कि डिस्चार्ज होने के बाद उन्होंने अस्पताल प्रबंधन सहित कई डॉक्टरों से गुहार लगाई कि उनके पास वाहन नही हैं, पत्नी को घर भिजवा दिया जाए, लेकिन किसी ने नहीं सुनी. इसलिए साइकिल पर लटकाकर घर ले जाना पड़ा.

कांग्रेस नेता ने की मदद

साइकिल में पत्नी को लटका कर जिला मुख्यालय से 80 किलोमीटर दूर घर जा रहे पूरनलाल पर करीब 20 किलोमीटर पैदल चलने के बाद भोपाल के पास कांग्रेस के किसान नेता देवेंद्र पटेल की नजर पड़ी. देवेंद्र अपनी कार से नरसिंहपुर जा रहे थे. उन्होंने तत्काल अपनी कार रोकी और पूरनलाल से पूरी जानकारी लेने के बाद आर्थिक मदद की. फिर पूर्व मंत्री प्रभुराम चौधरी को कॉल कर उनके बारे में जानकारी दी. प्रभुराम चौधरी की पहल पर रायसेन तहसीलदार अजय प्रताप पटेल ने मौके पर पहुंचकर एंबुलेंस से महिला को घर भिजवाया.जिला अस्पताल की बड़ी लापरवाही

ऐसा नहीं है कि डिस्चार्ज करते समय अस्पताल के डॉक्टर और स्टाफ को जानकारी नहीं थी कि पूरनलाल के पास पत्नी को ले जाने के लिए कोई साधन नहीं है. लेकिन सब जानते हुए अस्पताल ने लापरवाही दिखाई. लकवाग्रस्त पत्नी को साइकिल से ले जाने के लिए छोड़ दिया.एंबुलेंस मुहैया कराना मुनासिब नहीं समझा.

पूर्व मंत्री ने सोशल मीडिया पर शेयर किया दर्द

इस मामले में पूर्व मंत्री प्रभुराम चौधरी ने सोशल मीडिया पर दर्द शेयर करते हुए लिखा कि दोपहर क्षेत्र के एक जागरूक नागरिक देवेंद्र पटेल ने फोन पर सूचना दी कि पूरनलाल अपनी लकवाग्रस्त धर्मपत्नी को साइकिल पर लेकर जिला अस्पताल रायसेन गांव के लिए रवाना हुए हैं. यह सुनते ही मामले की गंभीरता और उनके कष्ट का अंदाजा मुझे हो गया. मेरे अनुरोध पर तहसीलदार अजय पटेल ने तत्काल एम्बुलेंस भेजकर महिला को घर भिजवाया. और मानवता की मिसाल पेश की. (रिपोर्ट- देवराज दुबे)


First published: June 21, 2020, 4:53 PM IST



Source link

admin

Recent Posts

BS-IV वाहनों पर सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, 31 मार्च के बाद बीते वाहन का रजिस्ट्रेशन नहीं होगा

सर्वोच्च न्यायालय बीएस -4 गाड़ियों (BSIV) को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने ऑटो कंपनियों को बड़ा झटका दिया है सुप्रीम कोर्ट…

52 mins ago

जुआ लूटने की कोशिश के आरोपी समेत दो तस्कर गिरफ्तार, हेरोइन, ड्रगमनी, कार और बुलेट बाइक बरामद

पुलिस ने अग्रवाल वैष्णो ढाबा के पास से पकड़ा अली मोहल्ले के साहिल गिल उर्फ मासी और साहिल कल्याण उर्फ…

2 hours ago

हिमाचल में 24 घंटे में 3 सुसाइड: पति ने फंदा लगाया तो पत्नी ने खाया जहर, महिला और बुजुर्ग ने भी दी जान

हिमाचल में सुसाइड के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. पुलिस अधीक्षक कुल्लू गौरव सिंह ने बताया कि सूचना मिलने के…

2 hours ago

सिंधिया के गढ़ में सभी सीटों पर कांग्रेस का फोकस, अब ग्वालियर बनेगा चुनावी मुख्यालय

सभी तरह की चुनावी गतिविधियां इसी मुख्यालय से संचालित होंगी. (फाइल फोटो) पूर्व मंत्री डॉक्टर गोविंद सिंह (Former Minister Dr.…

2 hours ago

कोठी की छत पर चल रही थी क्रिकेट मैच पर सट्टेबाजी, सीवरमैन और एक बुकी समेत 8 गिरफ्तार

जालंधर में बुधवार को पुलिस द्वारा क्रिकेट मैच पर सट्टा लगा रहे 8 लोगों को गिरफ्तार करने का मामला सामने…

2 hours ago

दिल्ली कोरोनावायरस न्यूज़: कोविद -19 की दिल्ली पुलिस के 40 वर्षीय कांस्टेबल की मौत दिल्ली समाचार – टाइम्स ऑफ इंडिया

NEW DELHI: 40 साल का दिल्ली पुलिस कांस्टेबल जो यहां एक अस्पताल में जिगर से संबंधित जटिलताओं के लिए इलाज…

3 hours ago

Search News

Subscribe A2znews For News, Jobs & lifestyle

Recent Posts