मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को उनके घर में चुनौती देने वाले राजेंद्र गहलोत विजयी, राज्यसभा चुनाव जीता


राजस्थान में राज्यसभा चुनाव (rajyasabha elections 2020) में शुक्रवार को बीजेपी उम्मीदवार राजेंद्र गहलोत (rajendra gehlot) विजयी घोषित हुए हैं। राजेंद्र गहलोत जोधपुर से है और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) को उनके घर में कई बार चुनावी चुनौती दे चुके हैं।

Edited By Sambrat Chaturvedi | Lipi | Updated:

राज्यसभा सदस्य राजेंद्र गहलोत।
हाइलाइट्स
  • बीजेपी सरकार में जल मंत्री रहे चुके राजेंद्र गहलोत ने जीता राज्यसभा चुनाव।
  • राजस्थान विधानसभा में हुए चुनाव में 54 वोट मिले राजेंद्र गहलोत को।
  • 72 वर्षीय गहलोत यूआईटी के चेयरमैन भी रह चुके हैं।
  • राजेन्द्र गहलोत प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के परम्परागत प्रतिद्वंदी रहे हैं।
  • दो बार मुख्यमंत्री गहलोत के खिलाफ चुनाव लड़ चुके हैं।

जोधपुर

राज्यसभा चुनाव में राजस्थान से शुक्रवार को तीन उम्मीदवारों को विजयी घोषित किया गया है। इनमें दो सदस्य केसी वेणुगोपाल और नीरज डांगी कांग्रेस उम्मीदवार थे और एक प्रत्याशी बीजेपी से राजेंद्र गहलोत हैं। बीजेपी की ओर से राज्यसभा चुनाव के मैदान में गहलोत को 54 मत मिले और मतगणना के बाद उन्हें विजयी घोषित कर दिया गया। गहलोत प्रदेश बीजेपी के जमीनी नेता हैं और जोधपुर के जल भागीरथ के नाम से जाने जाते हैं।

ये भी पढ़ें- राजस्थान से ये 3 नेता पहुंचे राज्यसभा

साल 2015 में राजस्थान बीजेपी सरकार के जलमंत्री रह चुके हैं गहलोत

पार्टी के वरीष्ठ कार्यकर्ता हैं। जोधपुर निवासी गहलोत बीजेपी के वरिष्ठ कार्यकर्ता हैं। आपातकाल के दौरान गहलोत लम्बे अरसे तक जेल में रहे थे। गहलोत शुरू से ही संघ की पृष्ठभूमि जुड़ थे। गहलोत को पूर्व मुख्यमंत्री भैरोसिंह शेखावत ने आगे बढ़ाया। दो बार सरदरापुरा से विधायक रह चुके गहलोत को उन्होंने अपने मंत्रिमंडल में जलमंत्री के रूप जगह दी थी। 72 वर्षीय गहलोत यूआईटी के चेयरमैन भी रह चुके हैं।

ये भी पढ़ें- राज्यसभा पहुंचे गहलोत के करीब नीरज डांगी



गहलोत के परम्परागत प्रतिद्वंदी रहे हैं गहलोत


राजेन्द्र गहलोत प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के परम्परागत प्रतिद्वंदी रहे हैं। वे दो बार मुख्यमंत्री गहलोत के खिलाफ चुनाव लड़ चुके हैं। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और राजेन्द्र गहलोत दोनों ही माली समाज से संबंध रखते हैं। जिसके चलते जब भी अशोक गहलोत के सामने राजेन्द्र गहलोत को पार्टी ने मैदान में उतारा तो अशोक गहलोत की चिंताए बढ़ जाती थी और जातीय समीकरण के चलते मुख्यमंत्री गहलोत के जीत में वोटों के अंतर के आंकड़े में भारी गिरावट देखी जाती थी।



मंत्री रह चुके गहलोत ने लड़ा था पार्षद चुनाव


पुर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने साल 2015 में एक नई रणनीति अपनाते हुए गहलोत के गृहनगर में बीजेपी का बोर्ड बनाने के लिए पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को निगम चुनाव में उतार दिया गया था। तत्कालीन चुनाव में राजेन्द्र गहलोत को भी पाषर्द का चुनाव लड़ना पड़ा। लेकिन गहलोत ने पार्टी हित को प्राथमिकता प्रदान की और बहुत वरिष्ठ होने के बावजूद पार्षद का चुनाव लड़ा और जीत हासिल की। इसके बाद बीजेपी का बोर्ड भी बना।

जोधपुर के भागीरथ के नाम से भी जाना जाता है गहलोत को

पश्चिमी राजस्थान में पीने के पानी की कमी सालों से रही थी। गहलोत जब शेखावत सरकार में जलमंत्री रहे तो उन्होनें लिफ्ट कैनाल योजना से जोधपुर को जोड़ा था और इसके बाद जोधपुरवासियों को मीठा पीने का पानी मिलने लगा। इस योजना से जोधपुर के जुड़ने के बाद राजेन्द्र गहलोत को शहरवासियों ने जल भागीरथ की उपाधी से नवाजा था।

संघ से शुरू किया सफर, एबीवीपी में भी सक्रिय रहे

आपातकाल के दौरान 19 माह तक जेल में रहने वाले गहलोत का राजनीतिक सफर काफी लंबा है। वर्ष 1977 में सोजत विधानसभा सीट से विधायक का चुनाव लड़ा। वे 1980 से 86 तक भाजयुमो के पहले प्रदेशाध्यक्ष रहते हुए राष्ट्रीय अध्यक्ष राजनाथसिंह और कलराज मिश्र के नेतृत्व में काम किया। इसके बाद युवा मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष भी बने। सन् 1987-88 में प्रदेश मंत्री बने। वर्ष 1990 में कांग्रेस के दिग्गज नेता मानसिंह देवड़ा के सामने सरदारपुरा से विधायक चुनाव जीता और 1994 से 1998 तक भैरोंसिंह शेखावत मंत्रिमंडल में पीएचईडी मंत्री रहे। इसके बाद ओबीसी के प्रदेशाध्यक्ष पद का कामकाज भी किया। 2006 में वसुंधरा राजे सरकार ने जोधपुर नगर सुधार न्यास के अध्यक्ष पद का दायित्व सौंपा। तब उन्होंने जोधपुर में साढ़े छह किमी लंबा गौरवपथ बनाया था। 2008 में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के सामने सरदारपुरा विधानसभा क्षेत्र से विधायक का चुनाव लड़ा, हालांकि जीत नहीं पाए, लेकिन गहलोत को गृहनगर में घेरने में बीजेपी कामयाब रही। फिलहाल बीजेपी के प्रदेश उपाध्यक्ष हैं।

राजेंद्र गहलोत प्रोफाइल

नाम- राजेंद्र गहलोत

उम्र- 72 वर्ष

पार्टी- बीजेपी

पत्नी- विमला (ग्रहणी)

व्यवसाय- राजनीति एवं खेती-किसानी

(रिपोर्ट-ललिता व्यास)

ये भी पढ़ें- राजस्थान में 2 किलो 788 ग्राम का रहस्यमयी धातु गिरा, देखें- तस्वीरें

पौने तीन किलो का ‘धातु’

  • राजस्थान के जालोर जिले के सांचौर में शुक्रवार सुबह करीब पौने तीन किलो का एक विशेष धातु गिरा। जिसे उल्कापिंड भी बताया जा रहा है। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस टीम ने धातु को अपने कब्जे में लेकर सुरक्षित रखवाया है।

  • सांचौर थानाधिकारी अरविंद पुरोहित ने बताया कि दिनांक 19 जून 20 को सुबह करीब 7 बजे टेलिफोन से आसमान से धमाके के साथ कुछ गिरने की सूचना मिली थी। सूचना के बाद जोधपुर विश्व विद्यालय की एक टीम जांच के लिए मौके पर पहुंचेगी।

  • पुलिस टीम मौके पर पहुंची और जानकारी मिली की गायत्री कॉलेज के पास आसमान से गर्जना के वस्तु गिरी है। टीम मौके पर पहुंची तो वस्तु जमीन में धंसी हुई मिली।

  • इस धातु का बाह्य रूप से गहनता पूर्वक निरीक्षण कर सुरक्षा इंतजाम किए और उक्त वस्तु को सावधानीपूर्वक जमीन से निकाला गया। यह वस्तु गर्म अवस्था में थी जिसको मिट्टी में सुरक्षित रखी गई। ठण्डी होने पर एक कांच के जार में सुरक्षित रखा गया हैं। इस वस्तु का वजन 2 KG 788 GM हैं। मौका के सुरक्षित कर पुलिस जाब्ता लगा दिया गया हैं।

Web Title jal bhagirath rajendra gehlot rajya sabha mp candidate from jodhpur(Hindi News from Navbharat Times , TIL Network)

रेकमेंडेड खबरें



Source link

admin

Recent Posts

मुंबई के डब्बावालों ने बच्चन परिवार के लिए की प्रार्थना

दो पहले अमिताभ बच्‍चन और अभिषेक बच्‍चन कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। साथ ही ऐश्‍वर्या राय बच्‍चन और आराध्‍या भी…

2 hours ago

Rajasthan Crisis LIVE : पायलट का दावा, गहलोत के पास बहुमत है तो विधानसभा में साबित करें-सूत्र

जयपुर. राजस्‍थान में सियासी उठा-पटक को संभालने वालों में से कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता अजय माकन भी एक हैं. उन्‍होंने News18…

2 hours ago

सीएम शिवराज ने मंत्रियों को बांटे विभाग, महत्‍वपूर्ण डिपार्टमेंट पर सिंधिया समर्थकों का दबदबा

भोपाल. शिवराज मंत्रिमंडल (Shivraj cabinet) के सदस्यों के बीच विभागों का बंटवारा हो गया है. खबर है कि देर रात सीएम…

2 hours ago

कोरोना के बीच ‘सेफ्टी प्लान’ के साथ पर्यटकों से गुलजार होगा कश्मीर

कोरोना वायरस (Coronavirus in Jammu-Kashmir) के बीच कश्मीर में अब पर्यटन को बहाल करने की तैयारी की जा रही है।…

2 hours ago

उत्तराखंड से अगला राज्यसभा सांसद कौन? श्याम जाजू, सुरेश भट्ट, विजय बहुगुणा के नाम चर्चा में

देहरादून. उत्तराखंड से अगला राज्यसभा सांसद कौन होगा? इसको लेकर सुगबुगाहट तेज़ हो गई है. नवंबर में कांग्रेस के नेता…

2 hours ago

चीन के 59 ऐप्स बैन होने के बाद घरेलू डेवलपर्स के लिए अवसर, लेकिन इन बातों पर ध्यान देना ज़रूरी

59 ऐप के बैन ने घरेलू डेवलपरों के लिए अवसर खोल दिए हैं विश्लेषकों का कहना है कि घरेलू ऐप…

3 hours ago

Search News

Subscribe A2znews For News, Jobs & lifestyle

Recent Posts