श्रीनगर मुठभेड़ः पुलिस ने आतंकवादियों से समर्पण की बार-बार अपील की, माता-पिता को भी लेकर आई


श्रीनगर, 21 जून (भाषा) जम्मू-कश्मीर पुलिस के विशेष कार्य बल ने आतंकवादियों को आत्मसमर्पण करने के वास्ते समझाने के लिए हर मुमकिन कोशिश की। यहां तक तीन आतंकवादियों के रिश्तेदारों को भी लेकर आए, लेकिन भावनात्मक अपील नाकाम रहने पर शहर के जूनीमर इलाके में पुलिस को अभियान शुरू करना ही पड़ा।अधिकारियों ने बताया कि अभियान शनिवार देर रात शुरू हुआ और सुरक्षा बलों ने तीनों दहशतगर्दों को मार गिराया। आतंकवादियों की पहचान श्रीनगर में भरथाना के शकूर फारूक लंगू और सेमथान बिजबेहरा के शाहिद अहमद भट के तौर पर हुई है। वहीं तीसरा आतंकी सौरा का रहने वाला है। वे

डिसक्लेमर: यह आर्टिकल एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड हुआ है। इसे नवभारतटाइम्स.कॉम की टीम ने एडिट नहीं किया है।

भाषा | Updated:

श्रीनगर, 21 जून (भाषा) जम्मू-कश्मीर पुलिस के विशेष कार्य बल ने आतंकवादियों को आत्मसमर्पण करने के वास्ते समझाने के लिए हर मुमकिन कोशिश की। यहां तक तीन आतंकवादियों के रिश्तेदारों को भी लेकर आए, लेकिन भावनात्मक अपील नाकाम रहने पर शहर के जूनीमर इलाके में पुलिस को अभियान शुरू करना ही पड़ा।अधिकारियों ने बताया कि अभियान शनिवार देर रात शुरू हुआ और सुरक्षा बलों ने तीनों दहशतगर्दों को मार गिराया। आतंकवादियों की पहचान श्रीनगर में भरथाना के शकूर फारूक लंगू और सेमथान बिजबेहरा के शाहिद अहमद भट के तौर पर हुई है। वहीं तीसरा आतंकी सौरा का रहने वाला है। वे प्रतिबंधित संगठन हिज़्बुल मुजाहिदीन से जुड़े हैं। आतंकवादियों को समझाने की सभी भावनात्मक अपीलें नाकाम रहने के बाद पुलिस को घनी आबादी वाले इलाके में आम लोगों को बचाने के लिए अभियान शुरू करना पड़ा और अभियान में तीनों को ढेर कर दिया। माना जाता है कि ये आतंकवादी रमज़ान में सौरा में बीएसएफ के दो जवानों की हत्या में शामिल थे। इन आतंकवादियों को एक घर में घेर लिया गया था। शनिवार देर रात को अभियान के दौरान, कार्यबल के पुलिस अधीक्षक ताहिर भट्टी ने आतंकवादियों से हथियार डालने और आत्मसमर्पण करने की बार-बार अपील की। पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम जाहिर नहीं करने की शर्त पर बताया, ” आतंकवादियों को रात में घेर लिया गया था और पहला काम आम लोगों को बचाना था। हम घर के मालिक और आसपास के घरों से लोगों को निकालने में कामयाब रहे। “मुठभेड़ श्रीनगर में ज़ादिबल के जूनीमर इलाके में हुई। वरिष्ठ अधिकारियों ने आतंकवादियों के माता-पिता का पता लगाया और आत्मसमर्पण की अपील कराने के लिए उन्हें मुठभेड़ स्थल के पास ले आए। एक आतंकवादी के रिश्तेदार ने कहा, ” तुम्हारी मां दिल की बीमारी से जूझ रही है। बाहर आओ और समर्पण करो। वे तुम्हारी मदद करेंगे।” वहीं दूसरे आतंकवादी की मां ने नम आंखों से अपने बेटे से हथियार डालने की गुजारिश की। जिस घर में वे छुपे हुए थे उसके मालिक ने भी उनसे आत्मसमर्पण की अपील की। मकान मालिक को यह कहते हुए सुना गया, ” मेहरबानी करके बाहर आ जाओ। मेरे पास पैसे नहीं हैं। मैं घर को दोबारा नहीं बना सकता हूं। मेरी बेटी की जल्द शादी हो रही है। मैं इस नुकसान को बर्दाश्त नहीं कर पाउंगा।” भट्टी ने घेरे में लिए आतंकवादियों में से एक के माता पिता से बात करते हुए उनसे उसे प्यार से बाहर लाने का आग्रह किया और आश्वासन दिया कि उन्हें कोई नुकसान नहीं पहुंचाया जाएगा। भट्टी को दुखी माता पिता से कहते हुए सुना गया, ” हम पिछले 10 घंटे से कोशिश कर रहे हैं और आपको यहां इसलिए लाया गया है ताकि मोहब्बत से अपील की जा सके और उसे बचाया जा सके।” बहरहाल, बार-बार अपीलों का जवाब गोली चला कर दिया गया और पुलिस को अभियान शुरू करना पड़ा। वे घर में घुसे और आतंकवादियों को मार दिया। अभियान के बाद, मकान मालिक को पुलिस अधिकारियों का शुक्रिया अदा करते हुए देखा गया, क्योंकि उनके घर को कोई नुकसान नहीं पहुंचा।

Web Title srinagar encounter: police also brought parents’ repeated appeals to surrender to terrorists(Hindi News from Navbharat Times , TIL Network)

रेकमेंडेड खबरें



Source link

admin

Recent Posts

सुबह 40 मिनट रखें यह दिनचर्या, दूर रहेंगी बीमारियां

योग करने से शरीर में दिनभर ऊर्जा बनी रहती है. शारीरिक व्यायाम (Physical Exercise) नहीं होने से लोग बीमारियों (Diseases)…

14 mins ago

Jaipur: मंत्री शांति धारीवाल और ममता भूपेश को खाली करने पड़ सकते हैं सरकारी बंगले, जानिये क्या है वजह

बंगला नंबर बी-3 में महिला एवं बाल विकास मंत्री ममता भूपेश और बी-4 में यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल रहते हैं.…

21 mins ago

MP : सिंधिया के बयान पर कांग्रेस नेता का तंज-अगर टाइगर हो तो अब तक आस्तीन में क्यों थे….

गुरुवार को शिवराज मंत्रिमंडल (shivraj cabinet) विस्तार (expansion) के बाद सिंधिया ने कहा था-टाइगर अभी ज़िन्दा है. गुरुवार को शिवराज…

33 mins ago

सस्ते सोने के नाम पर बेच देते थे धातु का टुकड़ा, गैंग के चार सदस्य बोकारो में गिरफ्तार

सस्ता सोना बेचने के नाम पर नकली सोना बेचकर ठगी करने वाले अंतर प्रांतीय गिरोह के चार सदस्य बोकारो में…

2 hours ago

दो रिटायर्ड फौजियों ने दिया था लूट की वारदात को अंजाम, गिरोह के सरगना ने पहन रखी थी पुलिस की वर्दी

बीती 29 जून की रात 10 बजे गांव झंडेचक्क में घर में घुसकर दो तोले सोने की चेन, 58,500 रुपए…

2 hours ago

कोरोना लॉकडाउन में काम नहीं मिलने से परेशान होकर संगठित मजदूर ने लगाया फंदा, मौत

लुधियाना के नानक नगर में रहने वाला ललित कुमार कपड़ों को प्रेस करता था, दो शादियां की थी मृतक ने;…

2 hours ago

Search News

Subscribe A2znews For News, Jobs & lifestyle

Recent Posts