Categories: पंजाब

सरकारी अस्पताल के 10 में से 8 वाटर कूलर खराब, मरीज पानी को तरसे

  • सिविल अस्पताल प्रबंधकों की अनदेखी के चलते वाटर कूलरों की मरम्मत नहीं हाे पाई
  • लोग गर्मी में बाहर भटकने को मजबूर

दैनिक भास्कर

Jul 02, 2020, 06:37 AM IST

बठिंडा. तपती गर्मी के बीच सरकारी अस्पताल में आने वाले मरीजों को राहत देने के लिए लगाए गए वाटर कूलर गर्मी शुरू होने से लेकर अब तक बंद पड़े हैं। जो चल रहे हैं वो भी राम भरोसे हैं। सरकारी अस्पताल में इस समय 10 के करीब वाटर कूलर हैं जिसमें सिर्फ दो ही चिल्ड्रन अस्पताल और ओपीडी ब्लाक का वाटर कूलर काम कर रहा है।

बता दें कि उक्त वाटर कूलरों में अधिकांश सहारा जनसेवा की ओर से अस्पताल को दान किए गए हैं लेकिन अस्पताल प्रबंधकों की अनदेखी के चलते इन वाटर कूलरों की मरम्मत नहीं करवाई गई। ऐसे में हर रोज दूर-दूराज से आने वाले सैकड़ों मरीजों को पीने के पानी के लिए भटकना पड़ता है वहीं लोगों को मजबूरन महंगा बोतल बंद पानी खरीदना पड़ता है।

ओपीडी में 4 वाटर कूलर में से तीन खराब
हर रोज 1500 के करीब लोग अस्पताल में आते हैं। कुछ समय पहले समाजसेवी संस्था सहारा जनसेवा ने गर्मी में लोगों को राहत देने के लिए पानी का प्रबंध करने के लिए ओपीडी में चार वाटर कूलर लगवाए थे। इनमें से तीन वाटर कूलर लंबे समय से खराब है जिनको ठीक करवाने के लिए अस्पताल प्रबंधकों ने जहमत तक नहीं की। एक वाटर कूलर सैकड़ों लोगों के लिए नाकाफी है।

खूनदान करने वालों को नहीं मिलता पीने को पानी
ब्लड बैंक में रोजाना खूनदानी आते हैं, लेकिन उनके लिए लगाए गया वाटर कूलर पिछले एक साल से बंद है। ऐसा नहीं है कि इसके बारे में ब्लड बैंक अधिकारियों को पता नहीं है। सबकुछ पता होने के बावजूद इस समस्या का हल करवाने में असमर्थ हैं। खूनदान करने के अलावा उनके साथ आए परिजनों को पीने के पानी के लिए केंटीन से बोतल बंद पानी खरीदना पड़ता है।

इमरजेंसी में भी पीने के पानी का प्रबंध नहीं
सबसे ज्यादा परेशानी इमरजेंसी वार्ड में दाखिल मरीजों और स्टाफ मेंबरों को आती है। यहां कुछ समय पहले संस्था की ओर से पुलिस चौकी के पास एक वाटर कूलर लगवाया था। यह एक साल के बाद खराब हो गया, जिसे ठीक नहीं करवाया। ऐसे में इमरजेंसी, एनसीडी, टीबी अस्पताल के मरीजों को पीने के पानी के लिए या तो ओपीडी ब्लाक में पानी लाने के लिए जाना पड़ता है या फिर बोतलबंद पानी खरीदने को मजबूर होना पड़ता है। यहीं हाल चिल्ड्रन वार्ड का है। यहां रोजाना 500 के करीब ओपीडी है। दो वाटर कूलर लगे हैं, जिसमें एक खराब है और दूसरा कुछ दिन चलता है तो कुछ दिन खराब रहता है। उधर, अस्पताल के चीफ फार्मासिस्ट सुरिंदर कुमार ने दावा किया है कि इन्हें जल्द ठीक करवा दिया जाएगा।

Source link

admin

Recent Posts

CM शिवराज का आदेश, गणेशोत्सव और मुहर्रम में न हो किसी भी तरह का सार्वजनिक आयोजन

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अधिकारियों से कहा कि धार्मिक कार्यक्रम घरों में ही हों, यह सुनिश्चित करें. मुख्यमंत्री शिवराज…

11 mins ago

Rajasthan Crisis : वेणुगोपाल का दावा, कल विधानसभा में कांग्रेस पार्टी एकजुटता से खड़ी होगी

कांग्रेस विधायक दल की बैठक के बाद सुलह की घोषणा करते संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल (बीच में). केसी वेणुगोपाल (KC…

3 hours ago

वेतन भत्तों में कटौती: नहीं माने विधायक तो अध्यादेश ले आई सरकार, जानें रावत कैबिनेट के अहम फैसले

राज्य सरकार के प्रवक्ता कैबिनेट मंंत्री मदन कौशिक ने कैबिनेट के फ़ैसलों की जानकारी दी. उत्‍तराखंड विधानसभा (Uttarakhand Assembly) का…

3 hours ago

यूपी के EX-MLA बोले- एक भी सही सलामत सड़क बाकी है तो फोटो भेजें, दूंगा इनाम

सड़क पर धान रोप कर पूर्व विधायक ने अनोखा विरोध प्रदर्शन किया. समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) नेता मनोज सिंह का…

3 hours ago

डेढ़ साल में ही बोल गया देहरादून का अजबपुर फ़्लाइओवर… अप्रोच रोड धंसी, पुल पर खतरा

अजबपुर फ़्लाइओवर का मार्च, 2019 में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने उद्घाटन किया था. एनएच अधिकारियों का कहना है कि…

4 hours ago

कमलनाथ-नकुलनाथ की होर्डिंग से MP में सियासी बखेड़ा! जानें Viral Photo की सच्चाई

सोशल मीडिया पर वायरल इस फोटो ने कांग्रेस ने बीजेपी की साजिश बताई है. वायरल फोटो में भोपाल (Bhopal) के…

4 hours ago

Search News

Subscribe A2znews For News, Jobs & lifestyle

Recent Posts