Categories: बिज़नेस

8 सबसे महत्वपूर्ण उद्योगों का उत्पादन जून में 15 पीसी गिर गया देश के 8 सबसे प्रमुख उद्योगों का उत्पादन जून में 15% गिरा, सीमेंट उद्योग में सबसे अधिक 33.8% की गिरावट


नई दिल्ली5 घंटे पहले

  • कॉपी लिस्ट

अप्रैल-जून 2020, यानी, इस व्यवसाय वर्ष की पहली तिमाही में कोर सेक्टर के उत्पादन में 24.6% की गिरावट आई है

  • कोर सेक्टर में लगातार चौथे महीने गिरावट रही
  • फर्टिलाइजर्स को बाकी सभी 7 सेक्टर गिरे छोड़ दें

देश के 8 सबसे प्रमुख उद्योगों के उत्पादन में जून में 15 प्रति की गिरावट दर्ज की गई। ये आठ उद्योगों को देश का कोर सेक्टर कहा जाता है। ये 8 उद्योग हैं मुर्गा, कच्चा तेल, प्राकृतिक गैस, रिफायनरी प्रोडक्ट्स, फर्टिलाइजर्स, स्टील, सीमेंट और बिजली। इन फर्टिलाइजर्स को छोड़कर बाकी सभी सात उद्योगों के उत्पादन में गिरावट आई।

एक साल पहले यानी जून 2019 में 8 प्रमुख उद्योगों के उत्पादन में 1.2 प्रतिशत की वृद्धि हुई थी। केंद्रीय और उद्योग मंत्रालय द्वारा शुक्रवार को जारी आंकड़ों के मुताबिक मई में कोर सेक्टर में 22 फीसदी गिरावट रही है। अप्रैल-जून 2020, यानी, इस व्यवसाय वर्ष की पहली तिमाही में कोर सेक्टर के उत्पादन में 24.6 प्रतिशत की गिरावट आई है। अप्रैल-जून 2019 में कोर सेक्टर के उत्पादन में 3.4 प्रतिशत की वृद्धि हुई थी।

लॉकडाउन का अर्थव्यवस्था पर बेहद बुरा असर

इन आंकड़ों का मतलब यह है कि कोरोनावायरस और लॉकडाउन का अर्थव्यवस्था पर बेहद बुरा असर पड़ा है। अकेले फर्टिलाइजर्स सेक्टर में तेजी दिख रही है। क्योंकि इस समय सिर्फ कृषि क्षेत्र ही अच्छा प्रदर्शन कर रहा है। लॉकडाउन के कारण एक और उद्योग धंधों को बंद करना पड़ा। दूसरी और मांग कम हो जाने के कारण भी उद्योगों को उत्पादन घटाना पड़ा। पिछले चार महीने का ग्राफ हालांकि यह भी बताता है कि आर्थिक हालात में लगातार सुधार हो रहा है।

8 उद्योगों का उत्पादन जून में इस प्रकार रहा

तेल: -15.5%

कच्चा तेल: -6%

प्राकृतिक गैस: -12%

बाइनरी प्रोडक्ट्स: -8.9%

फर्टिलाइजर्स: + 4.2%

स्टील: -33.8%

सीमेंट: -6.9%

बिजली: -11%

संपूर्ण कोर सेक्टर: -15%

जून के औद्योगिक उत्पादन के आंकड़े भी खराब रह सकते हैं

कोर सेक्टर का औद्योगिक उत्पादन सूचकांक (आईआईपी) में 40.27 प्रति योगदान होता है। कोर सेक्टर के उत्पादन में 15 प्रति गिरावट को इस बात का संकेत माना जा सकता है कि जून के औद्योगिक उत्पादन के आंकड़े भी बेहद खराब रहने वाले होंगे। जून के औद्योगिक उत्पादन के आंकड़ अगस्त के दूसरे सप्ताह में जारी होंगे।

लॉकडाउन के बाद हर महीने कोर सेक्टर में गिरावट रही

कोरोनावायरस संक्रमण को फैलाने से रोकने के लिए देश में लॉकडाउन लगाए जाने के बाद हर महीने कोर सेक्टर में गिरावट दर्ज की गई। मार्च 2020 में कोर सेक्टर 8.6 प्रति गिरा। अप्रैल में यह 37 प्रति गिरा है। मई में 22 प्रतिशत गिरावट आई थी। पूरे देश में 25 मार्च को लॉकडाउन लगा दिया गया था। कुछ राज्यों ने पहले ही लॉकडाउन लगा दिए थे।

0



Source link

admin

Recent Posts

Rajasthan : 20 अगस्त से महज 8 रुपए में मिलेगा भरपेट गर्मागर्म पौष्टिक खाना

अशोक गहलोत सरकार ने इस योजना का नाम इंदिरा रसोई रखा है, (फाइल फोटो) सीएम अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot)…

5 hours ago

अरविंद केजरीवाल, हरदीप सिंह पुरी ने दिल्ली में विकास को लेकर बैठक की दिल्ली समाचार – टाइम्स ऑफ इंडिया

नई दिल्ली: मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के साथ एक बैठक आयोजित की केंद्रीय आवास और शहरी मामले मंत्री हरदीप पुरी ने…

6 hours ago

सियासी मुद्दा बन चुकी पराली के प्रबंधन की तैयारियां शुरू, हरियाणा ने पास की 1,305 करोड़ रुपये की योजना

चंडीगढ़. हरियाणा सरकार ने राज्य में पराली प्रबंधन के लिए 1,304.95 करोड़ रुपये की एक बड़ी योजना को स्वीकृति प्रदान…

6 hours ago

UP में कोरोना की रफ्तार ने बढ़ाई चिंता, एक दिन में 4473 केस और 50 लोगों की मौत

कोरोना संक्रमण के मामलों में काफी तेजी से इजाफा हो रहा है COVID-19 Update: उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण (Coronavirus)…

7 hours ago

बबीता फोगाट बनीं डिप्टी डायरेक्टर तो खिलाड़ियों ने पूछा- क्या BJP से चुनाव लड़ने पर मिला जॉब

बबीता फोगाट की नियुक्ति को लेकर हरियाणा के खिलाड़ियों ने सरकार से पूछा सवाल. (फाइल फोटो) डिस्कस थ्रोअर सीमा पूनिया…

7 hours ago

सीएम अशोक गहलोत की पीएम मोदी से मांग- ‘टिड्डियों को घोषित करें राष्ट्रीय आपदा’

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पीएम मोदी को चिट्ठी लिखी, टिड्डियों को राष्ट्रीय आपदा घोषित करने की मांग (फाइल तस्वीर) मुख्यमंत्री…

7 hours ago

Search News

Subscribe A2znews For News, Jobs & lifestyle

Recent Posts