Kashmir news: फारूक अब्‍दुल्‍ला बोले- जम्‍मू-कश्‍मीर से राज्‍य का दर्जा छीनकर क्‍या मिला?… न विकास हुआ न आतंक खत्‍म


फारूक अब्‍दुल्‍ला (फाइल फोटो)

जम्मू

जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला का कहना है क‍ि जम्‍मू-कश्‍मीर का राज्‍य का दर्जा खत्‍म करने से न तो इसका विकास हुआ और न आतंकवाद ही खत्‍म हुआ। उन्‍होंने यह भी आरोप लगाया कि बीजेपी ने साल 1999 में इंडियन एयरलाइंस के विमान के अपहरण और पाकिस्‍तानी आतंकी संगठन जैश ए मोहम्‍मद के संस्‍थापक मौलाना मसूद अजहर की रिहाई से कोई सबक नहीं लिया, क्‍योंकि उसे लगता है कि वह सबसे बुद्धिमान है।

रविवार को एक वेबिनार को संबोधित करते हुए अब्‍दुल्‍ला ने कहा,’केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर से किसी की भी राय लिए बिना विशेष दर्जा रद्द करने का फैसला लिया। यह एक दिन में राज्य सभा में पारित हुआ और दूसरे दिन लोकसभा में। साथ ही यह भी कहा गया कि कश्मीर अब भारत का हिस्सा होगा। फारूक अब्‍दुल्‍ला ने कहा, ‘हम तिरंगा थामे हुए हमेशा से भारत का हिस्सा थे।’

‘जिस विकास का वादा वह हुआ नहीं’

अब्दुल्ला ने वेबिनार में कहा कि जम्मू-कश्मीर विशेष राज्य के दर्जे का लाभ ले रहा थो जो उसे मुस्लिम पाकिस्तान राष्ट्र को अस्वीकार कर हिंदू बहुलता वाले भारत में शामिल होने पर दिया गया था। अब्दु्ल्ला ने कहा कि जिस विकास का वादा किया गया, वह नहीं हुआ। उन्होंने इस क्रम में कठुआ-बनिहाल रेल लिंक तथा करगिल और कश्मीर घाटी को जोड़ने वाली सुरंग का उदाहरण दिया।

‘बदला केवल कश्‍मीर का नक्‍शा’

उन्‍होंने आगे कहा, ‘हम कभी भी अलगाववादी नहीं थे न ही अलगाववाद को बढ़ावा दिया। पर ऐसा क्या बदल गया था जिसने उन्हें ऐसा फैसला लेने पर मजबूर किया? इसे रद्द करना बीजेपी का एजेंडा था और इसलिए उसने इसे इस तरह से पेश किया कि खूब विकास होगा, उद्योगपति आएंगे और पूरा खाका बदल जाएगा। हां, मानचित्र बदल गया क्योंकि महाराजा का कश्मीर रातभर में कहीं गायब हो गया और हम केंद्रशासित प्रदेश हैं जो दुर्भाग्यपूर्ण है। केंद्रशासित प्रदेश राज्य बनते हैं लेकिन राज्य कभी केंद्र शासित प्रदेश नहीं बनते।’

नजरबंदी पर भी उठाए सवाल

उन्होंने नेताओं को हिरासत में रखने पर भी सवाल उठाए। उन्होंने कहा, ‘कल्पना कीजिए कि तिरंगे की शान बनाए रखने के लिए मेरी पार्टी के मंत्री समेत शीर्ष नेता उग्रवाद की भेंट चढ़ गए। क्या उन्होंने (केंद्र सरकार ने) कश्मीर में लोगों का दिल जीता …जो लोग ‘भारत माता की जय’ के नारे लगा रहे थे, उन्हें जेल में डाल दिया गया और बिना किसी कारण के गिरफ्तार कर लिया गया जबकि कुछ अब भी नजरबंद हैं।’

अब्दुल्ला ने कहा, ‘क्या हम भारत के दुश्मन हैं। मुझे इन नेताओं पर अफसोस है और मैं सोचता हूं कि वे इस राष्ट्र को किस दिशा में ले जा रहे हैं। इस देश का क्या भविष्य होगा? हमने बर्बादी के रास्‍ते पर हैं क्‍योंकि हम लोगों को नहीं जीत पा रहे हैं।’

बीजेपी नेता ने किया विरोध, दिए तर्क

बीजेपी नेता व पूर्व मंत्री प्रिया सेठी और पूर्व विधान पार्षद सुरिंदर अंबरदार ने अब्दुल्ला की बातों का विरोध किया और कहा कि राज्‍य का चहुंमुखी विकास सुनिश्चित करने के लिए अनुच्छेद 370 के प्रावधानों को निरस्त करना जरूरी हो गया था। सेठी ने कहा, ‘लाभ का आकलन करने के लिए एक साल बहुत कम समय है, हमें कुछ वक्त दीजिए और आपको खुद परिणाम दिखेगा।’ अंबरदार ने कहा कि अनुच्छेद 370 दो राष्ट्र वाले सिद्धांत को जारी रखने वाला था जिसने 1947 में पाकिस्तान को जन्म दिया।

साल 2019 में 5 अगस्त को, केंद्र ने संविधान के अनुच्छेद 370 के तहत जम्मू-कश्मीर को प्रदत्त विशेष राज्य का दर्जा रद्द कर दिया था और राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों – जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में बांट दिया था।



Source link

admin

Recent Posts

Rajasthan crisis: कांग्रेस के बाद अब BJP ने भी शुरू की बाड़ेबंदी, 12 विधायकों को अहमदाबाद भेजा

राजस्थान में 14 अगस्त से विधानसभा का सत्र शुरू होने जा रहा है. (सांकेतिक फोटो) भाजपा (BJP) को डर है…

17 mins ago

इन दालों को मिक्स करके खाने से जल्द सुधर जाएगा बिगड़ा हुआ पाचन

अगर आपको एसिडिटी (Acidity), कब्ज और गैस जैसी समस्या रहती है तो आप दालों (Pulses) को खाकर इस समस्या को…

2 hours ago

उत्तराखंड में मिला दुर्लभ सांप, मूंगे की तरह चमकता है शरीर, देखें तस्वीर

वन विभाग ने रेड कोरल कुकरी प्रजाति के दुर्लभ प्रजाति के सांप को बिंदुखत्ता के एक घर से रेस्क्यू किया.…

3 hours ago

Of अच्छे आचरण ’के लिए जेल से बाहर, दिल्ली में आदमी छुरा लड़की | दिल्ली समाचार – टाइम्स ऑफ इंडिया

NEW DELHI: कृष्ण उर्फ ​​काके, द सेंधमार पीरागढ़ी में अपने घर के अंदर एक 12 वर्षीय लड़की के साथ बेरहमी…

4 hours ago

Search News

Subscribe A2znews For News, Jobs & lifestyle

Recent Posts