Rajasthan : इस तरह होगा छिड़काव तो टिड्डियों से बच जाएंगे, पर क्या होगा इंसानों का… जानें, कैसा है खतरा


छिड़काव के वक्त ऐसे किया जा रहा है सुरक्षा मानकों को नजरअंदाज.

कीटनाशक का छिड़काव (Pesticide spraying) करते समय पीपीई, मास्क, कैप और हैंड ग्लव्ज का उपयोग किया जाना चाहिए. लेकिन प्रदेश भर से जो तस्वीरें सामने आ रही हैं, उनमें कर्मचारी और किसान सुरक्षा किट पहनना तो दूर मास्क से अपना मुंह भी नहीं ढंक रहे हैं.

जयपुर. प्रदेश में टिड्डियों के दल (locust swarm) टेरर लगातार बना हुआ है और टिड्डियों को मारने के जतन भी लगातार किए जा रहे हैं. लेकिन टिड्डी नियंत्रण के लिए किए जा रहे कीटनाशक छिड़काव में सुरक्षामानकों की अनदेखी की जा रही है, जो बेहद घातक साबित हो सकती है. कीटनाशक छिड़काव के लिए जहां अंतरराष्ट्रीय और राष्ट्रीय स्तर की एजेंसियों की गाइडलाइंस मौजूद हैं, वहीं श्री कर्ण नरेंद्र कृषि विश्वविद्यालय के वैज्ञानिकों (Scientists) द्वारा भी एक एडवाइजरी (Advisory) तैयार कर राज्य सरकार (State Government) को उपलब्ध करवाई गई थी. इस एडवाइजरी में सुझाया गया था कि कीटनाशक का छिड़काव पौध सुरक्षा किट पहनकर ही करें, ताकि उसका असर छिड़काव करने वाले शख्स पर न हो. वहीं एक व्यक्ति द्वारा 3-4 घंटे से ज्यादा समय तक कीटनाशक छिड़काव न करने, हवा के विपरीत दिशा में कीटनाशक छिड़काव न करने और जिन क्षेत्रों में छिड़काव किया गया है उनमें 7-10 दिन तक पशुओं को चरने के लिए न छोड़ने की सलाह दी गई है. लेकिन सुरक्षा के इन मानकों की खुले तौर पर अनदेखी हो रही है, जो स्वास्थ्य के लिए गंभीर खतरा खड़ा कर सकती है.

मास्क तक का नहीं हो रहा उपयोग

विशेषज्ञों के मुताबिक, कीटनाशक का छिड़काव करते समय पीपीई, मास्क, कैप और हैंड ग्लव्ज जैसे सुरक्षा साधनों का उपयोग किया जाना चाहिए ताकि कीटनाशकों के जहरीले प्रभाव से बचा जा सके. लेकिन प्रदेश भर से जो तस्वीरें सामने आ रही हैं, उनमें कर्मचारी और किसान सुरक्षा किट पहनना तो दूर मास्क से अपना मुंह भी नहीं ढंक रहे हैं, जिससे कीटनाशक के उनके शरीर में प्रवेश की आशंका बनी रहती है. श्री कर्ण नरेंद्र विश्वविद्यालय में कीट विज्ञान विशेषज्ञ डॉ. अर्जुन सिंह बालोदा के मुताबिक, ऐसी लापरवाही से कीटनाशकों के जहरीले तत्त्व श्वांस के माध्यम से शरीर के अंदर जाकर नुकसान पहुंचा सकते हैं. इनके दुष्परिणाम तात्कालिक के साथ ही दूरगामी भी हो सकते हैं.

कृषि विभाग का दावाहालांकि कृषि विभाग के अधिकारियों का दावा है कि प्रशासन के सहयोग से कर्मचारियों को पीपीई, मास्क, कैप और ग्लव्ज जैसी चीजें उपलब्ध करवाई जा रही हैं, लेकिन तस्वीरें इन दावों की पोल खोल रही हैं. यदि किन्हीं कर्मचारियों को ये चीजें उपलब्ध हो भी रही हैं तो उनकी संख्या बेहद कम है. सुरक्षा किट के साथ ही वैज्ञानिकों की दूसरी सलाहों की भी अनदेखी टिड्डी नियंत्रण में की जा रही है. कई कर्मचारियों को जहां रोज कई घंटों तक कीटनाशकों का छिड़काव करना पड़ रहा है वहीं पशुओं को भी कीटनाशक प्रभावित क्षेत्रों में चरने से नहीं रोका जा रहा. यह लापरवाही स्वास्थ्य के लिए गंभीर संकट खड़ा कर सकती है.

First published: July 2, 2020, 8:09 PM IST





Source link

admin

Recent Posts

Rajasthan: BSP ने 6 विधायकों को फिर जारी किया व्हिप, कांग्रेस के खिलाफ वोट करने की हिदायत

विधानसभा सत्र से पहले पार्टी ने फिर विधायकों को सख्त निर्देश दिए हैं. (File) बसपा (BSP) राष्ट्रीय महासचिव सतीश चन्द्र…

5 hours ago

Jodhpur : पत्नी के थे समलैंगिक संबंध, टुकड़ों में मिली पति की लाश

पति की हत्या मे्ं पत्नी और तीन सालियों समेत पांच गिरफ्तार. मृतक की पत्नी समलैंगिक(Homosexual) थी. सात साल पहले हुई…

5 hours ago

हरियाणा सरकार का ऐलान, विधानसभा का मानसून सत्र 26 अगस्त से होगा शुरू

चंडीगढ़. हरियाणा विधानसभा का मानसून सत्र (Monsoon session) 26 अगस्त से शुरू होगा. इस बात की जानकारी मुख्यमंत्री मनोहर लाल…

5 hours ago

CM शिवराज का आदेश, गणेशोत्सव और मुहर्रम में न हो किसी भी तरह का सार्वजनिक आयोजन

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने अधिकारियों से कहा कि धार्मिक कार्यक्रम घरों में ही हों, यह सुनिश्चित करें. मुख्यमंत्री शिवराज…

6 hours ago

Rajasthan Crisis : वेणुगोपाल का दावा, कल विधानसभा में कांग्रेस पार्टी एकजुटता से खड़ी होगी

कांग्रेस विधायक दल की बैठक के बाद सुलह की घोषणा करते संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल (बीच में). केसी वेणुगोपाल (KC…

9 hours ago

वेतन भत्तों में कटौती: नहीं माने विधायक तो अध्यादेश ले आई सरकार, जानें रावत कैबिनेट के अहम फैसले

राज्य सरकार के प्रवक्ता कैबिनेट मंंत्री मदन कौशिक ने कैबिनेट के फ़ैसलों की जानकारी दी. उत्‍तराखंड विधानसभा (Uttarakhand Assembly) का…

9 hours ago

Search News

Subscribe A2znews For News, Jobs & lifestyle

Recent Posts