Unlock 1: इंदौर में 90 दिन बाद गूंजेगी शहनाई, इन शर्तों के साथ कलेक्टर ने दी परमिशन

कलेक्टर ने नए नियम तय कर दिए हैं.

कलेक्टर मनीष सिंह का कहना है कि शहर में बैंड और शहनाई बजाने वालों को कड़ी शर्तों के साथ अनुमति दी गई है.

इंदौर. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के इंदौर (Indore) शहर में सख्त लॉकडाउन (Lockdown) के चलते पिछले 90 दिनों से सभी तरह के समारोह बंद थे. शादियां (Marriage) भी 50 मेहमानों के साथ साधारण तरीके से करने के निर्देश दिए गए थे. यही कारण था कि बैंड बजाने वालों के पास कोई काम नहीं रह गया था, लेकिन अनलॉक 1.0 में जैसे-जैसे बाजार, व्यापारिक प्रतिष्ठान,सरकारी-निजी दफ्तर खुलते गए और तो और सैलून तक खुल गए. ऐसे में बैंड बजाने वाले भी चुप नहीं बैठने वाले थे. उन्होने सांसद शंकर लालवानी से शादियों में बैंड बजाने की अनुमति दिलाने की मांग की. सांसद बैंड वालों को लेकर कलेक्टर मनीष सिंह के पास पहुंच गए. कलेक्टर ने उन्हें निर्धारित शर्तों और एसओपी का पालन करने की हिदायत देते हुए सोशल डिस्टेंसिंग में बैंड बजाने की अनुमित दे दी.

10 दिन ही बचा शादियों का सीजन

शादी विवाह के सीजन में महीनों पहले से बैंड पार्टियों की बुकिंग हो जाती है, लेकिन लॉकडाउन के चलते कई लोगों ने बिना बैंड बाजे के ही शादी कर ली. इससे बैंड बालों की दिक्कतें बढ़ गई. इनके पास कोई दूसरा व्यवसाय न होने पर परिवार के भरण-पोषण करने के भी लाले पड़ गए. ऐसे में इन्हें लॉकडाउन खुलने की आस थी, लेकिन लॉकडाउन खुलने के 20 दिनों से ये प्रशासन के चक्कर काट रहे थे तब जाकर अब इन्हें परमीशन मिली है. बैंड बजाने वालों का कहना है कि पिछले तीन महिने से शादी विवाह का सीजन चल रहा है. अब सिर्फ 10 दिन ही शादी के सीजन के बचे है. ऐसे में वो बची हुईं शादियों में बैंड बजाकर कुछ दिनों की रोजी-रोटी की व्यवस्था तो कर लेंगे, लेकिन साल भर घर कैसे चलेगा इसकी चिंता सता रही है. पिछले करीब 90 दिनों से लॉकडाउन के चलते उनकी आर्थिक स्थिति बेपटरी हो गई है. बैंड बजाने वाले सैकड़ों कलाकारों के सामने आर्थिक संकट खड़ा हो गया है.

ये भी पढ़ें: दिल्ली: CBI अफसर बनकर करते थे लूट, फिर Goa में होती थी मस्ती, दबोची गई ‘नकली पुलिस’10 लोग ही रहेंगे बैंड बजाने वाले

कलेक्टर मनीष सिंह का कहना है कि शहर में बैंड और शहनाई बजाने वालों को कड़ी शर्तों के साथ अनुमति दी गई है. वे सीमित संख्या में विवाह कार्यक्रमों में सम्मिलित हो सकेंगे. दस की संख्या में बैंड बजाने वाले और एक शहनाई बजाने वाला होंगा. उन्हें सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के साथ ही निर्धारित शर्तों और एसओपी का पालन करना जरूरी होगा.


First published: June 20, 2020, 10:01 PM IST



Source link

admin

Recent Posts

हरियाणा में मौसम: मानसून मेहरबान, कई जिलों में जोरदार बारिश, गर्मी से मिली राहत

हरियाणा में जमकर हुई बारिश पहली ही बारिश में हिसार (Hisar) शहर पानी पानी हो गया. बुधवार दोपहर को रोहतक…

1 min ago

सेना के जवानों को फेसबुक-इंस्टाग्राम समेत 89 ऐप डिलीट करने का आदेश, नहीं किया तो होगी कार्रवाई

सेना के 13 लाख स्टाफ से फेसबुक-इंस्टाग्राम अकाउंट डीलीट करने को कहा गया है. (प्रतीकात्मक तस्वीर) ये निर्णय सेना की…

52 mins ago

BS-IV वाहनों पर सुप्रीम कोर्ट का बड़ा फैसला, 31 मार्च के बाद बीते वाहन का रजिस्ट्रेशन नहीं होगा

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट (भारत के सर्वोच्च न्यायालय) ने बड़ा फैसला सुनाया बीएस-IV (BSIV) वाहनों पर 27 मार्च 2020 के…

1 hour ago

होटल के मैनेजर ने 55 फीट ऊंची छत से कूदकर जान दी, एक दिन पहले ही आया था ड्यूटी पर

हिमाचल प्रदेश के हमीरपुर जिले के गांव संदोह निवासी अजय कुमार के रूप में हुई मृतक की पहचानखाना पकाने वाले…

1 hour ago

राशिफल आज, 09 जुलाई 2020: मेष, वृष, मिथुन, कर्क और अन्य राशियों के लिए ज्योतिषीय भविष्यफल देखें – Times of India

अपना पढ़ो राशिफल यह जानने के लिए कि आज सितारों के लिए आपके पास क्या है:मेष राशिआज आप एक साथ…

2 hours ago

हरियाणा के सीएम पहुंचे दिल्ली दरबार, प्रदेशाध्यक्ष की कुर्सी का फांसा पेंच निकलने के आसार

दिल्ली में भाजपा अध्यक्ष और संगठन के नेताओं के साथ सीएम करेंगे चर्चाहरियाणा में प्रदेशाध्यक्ष का नाम अभी तक नहीं…

2 hours ago

Search News

Subscribe A2znews For News, Jobs & lifestyle

Recent Posts